Google ads

क्वाँटम फिजिक्स सिद्धांत इन हिंदी | Quantum Physics in hindi | Explend


क्वाँटम फिजिक्स सिद्धांत इन हिंदी | Quantum Physics in hindi | Explend


Quantum Physics in hindi | Explend
Quantum Physics in hindi | Explend



Quantum Physics अगर मैं यह कहूं कि आपके सामने जो भी ऑब्जेक्ट है वह एक्चुअल में नहीं है, वह एक्चुअल में उस जगह पर एक्जिस्ट नहीं करते, आपको वह सिर्फ इसलिए दिखाई दे रहा है क्योंकि उसकी इमेज आपको दिमाग में पहले से ही मौजूद है, यहां तक कि जिस फोन या लैपटॉप में आप इस आर्टिकल को पढ़ रहे हो, वह भी आपके अलावा और किसी को दिखाई नहीं देता, तो आप इस आधार पर मुझे पागल समझेंगे, लेकिन दोस्तों यकीन मानिए ऐसा बिल्कुल हो सकता है, क्योंकि दुनिया में इतने सारे मिस्ट्री चीजें भरी हुई हैं जिन्हें समझना हमारे बस की बात नहीं है, और उन्हीं में से एक है क्वाँटम फ़िज़िक्स, यह एक ऐसी दुनिया है जो मैजिक से भरा हुआ है जहां चीजें एक समय पर एक जगह पर नहीं होता, कभी भी कहीं से भी ग़ायब हो सकता है और कहीं पर भी प्रकट हो सकता है, दोस्त बने रहे मेरे साथ और स्वागत है आपका मेरे एक नए फ्रेश पोस्ट पर .

Read This also
  1. अगर चांद से फायर किया जाए तो क्या होगा | kya hoga agar chand se fire kia jaye
  2. MCB box kya hai, Distribution board components
  3. बिग बैंग थ्योरी विज्ञान क्या है? What is Big Bang Theory science? index of big bang theory kya hai
  4. NASA has said that Alien has come to Earth | Alien ki sachi kahani
  5. क्या होगा अगर 5 सेकंड के लिए ऑक्सीजन गायब हो जाए | What if oxygen for 5 seconds disappears
  6. How do the projector work? Let's know some interesting things
  7. एलियन प्लेनेट से धरती कैसा दिखेग | Alien planet se Dharti kaisa dikhega
  8. एस्ट्रॉयड क्या है क्या यह हमारे लिए खतरा है | Asteroid kya hai, Dhumketu kya hai

क्वाँटम फिजिक्स सिद्धांत इन हिंदी | Quantum Physics in hindi | Explend



14 दिसंबर 1900 में "Max Plank" ने ब्लैक बॉडी रेडिएशन पर रिसर्च किया और बताया कि प्रकाश या अन्य इलेक्ट्रोमैग्नेटिक किरणें ऊर्जा का सतत प्रभाव नहीं है, बल्कि वह छोटे-छोटे ब्रैकेट ग्रुप में चलता है, इस सिद्धांत ने दुनिया भर में तह-लका मचा दिया और यही था क्वांटम फ़िज़िक्स, और इस ह्य्पोथीसिस का प्रयोग करके महान साइंटिस्ट Albert Einstin प्रकाश और विद्युत प्रभाव Explen किया था .

Quantum Physics in hindi | Explend
Quantum Physics in hindi | Explend





Quantum Physics in hindi | Explend
www.scientistsdaily.com






अब सवाल यह उठता है कि आखिर एक क्वांटम असल में क्या है ? Max Plank जो बताया था ऊर्जा के छोटे-छोटे ब्रैकेट वही असल में क्वांटम है, और हर ब्रैकेट यानि हर क्वांटम का एक ऊर्जा निश्चित होता है, और यह सब सिर्फ प्रकाश की गति पर है डिपेंड करता है और यही है (-E=HV), मतलब H यानि नियतक और V यानि आवृत्ति है .


क्वाँटम फिजिक्स सिद्धांत इन हिंदी | Quantum Physics in hindi | Explend

और यह चीज क्वांटम फ़िज़िक्स हमारे डेली लाइफ में हर जगह काम करता है, हमारे आस पास जो कुछ भी होता है या होने वाला है वह सब क्वांटम फिजिक्स के वजह से ही मुमकिन है, बिजली का कड़कना क्वांटम फ़िज़िक्स का ही देन है, हमारे कंप्यूटर वर्ल्ड क्वांटम फ़िज़िक्स पर ही काम करता है, किसी भी आवाज़ को सुनें क्वांटम फ़िज़िक्स के वजह से मुमकिन है, लेज़र मशीन क्वांटम फ़िज़िक्स के वजह से चलते हैं माइक्रोस्कोप ट्रांजिस्टर यह सब भी क्वांटम फ़िज़िक्स के बदौलत ही हमारे बीच मौजूद है, इसके अलावा DSLR एलईडी बल्ब टावर भी क्वांटम फ़िज़िक्स की ही देन है, यहां तक कि इस्तेमाल होने वाले जीपीएस भी क्वांटम के वजह से चलते हैं .

Quantum Physics in hindi | Explend
क्वाँटम फिजिक्स सिद्धांत इन हिंदी | Quantum Physics in hindi | Explend

हमारे यूनिवर्स में सब कुछ पार्टिकल्स और वेब के रूप में मौजूद है, हर चीज एक ही समय में कण और तरंगों यानि ठोस पदार्थ और वेब के रूप में मिलता है, अगर यूनिवर्स में एक Asteroid मौजूद है तो उसका कुछ हिस्सा वेब के रूप में और कुछ हिस्सा पदार्थ के रूप में मौजूद है, जिसके वजह से वह हमें दिख जाता है, और इस तरह हमारे सामने मौजूद हर एक ऑब्जेक्ट कण और तरंगों में ही मौजूद हैं, इसका मतलब क्वांटम पार्टिकल्स इलेक्ट्रॉन एक समय पर कण भी है और तरंग भी है .

क्वाँटम फिजिक्स सिद्धांत इन हिंदी | Quantum Physics in hindi | Explend

दरअसल क्वांटम के दुनिया में बहुत छोटे यानी एटम इलेक्ट्रॉन फ़ोटॉन जैसे पार्टिकल्स पाए जाते हैं, और इसलिए क्वांटम के दुनिया में किसी घटना का घटने के पीछे पॉसिबिलिटी 100% नहीं होती, कभी भी कुछ भी हो सकता है, और क्वांटम पार्टिकल एक्चुअल कहां मौजूद हैं यह जानना नामुमकिन है, कब कौन सा पार्टिकल्स कहां होंगे यह कहा नहीं जा सकता, ऐसा हो सकता है आपके सामने जो Chair या अन्य कोई वस्तु है वह असल में आपके देखने के थोड़ी देर पहले ही कहीं और होगा, लेकिन जब आप उस चीज को देखने की कोशिश किया तब वह क्वांटम फ़िज़िक्स के वजह से आपको दिखा .

Quantum Physics in hindi | Explend
क्वाँटम फिजिक्स सिद्धांत इन हिंदी | Quantum Physics in hindi | Explend
क्वांटम पार्टिकल्स आपस में हमेशा उलझे रहते हैं, अगर किसी एक पार्टिकल में कोई भी क्रिया होता है तो उसका असर दूसरे पार्टिकल में दिखाईं ज़रुर देगा, यहां तक कि अगर दो क्वांटम पार्टिकल को अलग अलग कर दिया जाए तो भी एक पार्टिकल के ऊपर एक्सपेरिमेंट का असर दूसरे पार्टिकल में देखने को मिलेगा, अगर दो पार्टिकल दो अलग-अलग ग्रह में मौजूद हैं और एक के ऊपर एक्सपेरिमेंट किया जाए तो भी दूसरा वाला पार्टिकल प्रभावित ज़रूर होगा .

Quantum Physics in hindi | Explend
Quantum Physics in hindi | Explend

क्वांटम
की दुनिया इतना जटिल है जिसे एक्सेप्ट करना मुश्किल है, मगर साइंटिस्ट इसका जरिए टाइम टेबल को मुमकिन करने में लगे हुए हैं, और कौन क्वांटम की दुनिया सच में एडजस्ट करती है इसका सबूत हमारे सामने है, जरा सोचिए अगर क्वांटम फ़िज़िक्स नहीं होता अगर वैज्ञानिक इसे नहीं समझते तो दुनिया आज कितने पीछे होता, इसलिए कहते हैं ना (चीज दिखता नहीं है लेकिन उसका असर ज़रूर रहता है), रही बात मिस्त्री चीजों की तो वह तो हमेशा रहेंगे .

क्वाँटम फिजिक्स सिद्धांत इन हिंदी | Quantum Physics in hindi | Explend

दोस्तों हमारे द्वारा दी गई जानकारी आपको कैसी लगी आप हमें कमेंट करें तथा इसी तरह का खबरें पढ़ने के लिए हमें फॉलो करें .
क्वाँटम फिजिक्स सिद्धांत इन हिंदी | Quantum Physics in hindi | Explend क्वाँटम फिजिक्स सिद्धांत इन हिंदी | Quantum Physics in hindi | Explend Reviewed by Science Fiction on October 11, 2019 Rating: 5

No comments:

Google

Powered by Blogger.