Google ads

पुनर्जन्म क्या है | Punarjanam kya hai, Reincarnation kya hai

पुनर्जन्म क्या है | Punar janam kya hai Reincarnation kya hai

पुनर्जन्म क्या है | Punar janam kya hai, Reincarnation kya hai
punar janam kya hai, what is Reincarnation

Reincarnation kya hai : गरुड़ पुराण में इंसान के जीवन से जुड़ी कहीं सारी बातें हैं सीखने को मिलता है और उनमें से एक है पुनर्जन्म, क्या पुनर्जन्म पॉसिबल है और अगर है तो अगले जन्म में कौन से जिंदगी मिलेंगे हम इंसान कौन से रूप में पैदा होंगे इन सब बातों को आज जानेंगे, तो अगर आपको धर्म और भगवान पर विश्वास नहीं है तो आप इस आर्टिकल को अभी छोड़ सकते हैं, वरना बन रहे हमारे साथ .

Read this also
  1. बिग बैंग थ्योरी विज्ञान क्या है? What is Big Bang Theory science? index of big bang theory kya hai
  2. NASA has said that Alien has come to Earth | Alien ki sachi kahani
  3. क्या होगा अगर 5 सेकंड के लिए ऑक्सीजन गायब हो जाए | What if oxygen for 5 seconds disappears
  4. How do the projector work? Let's know some interesting things
  5. एलियन प्लेनेट से धरती कैसा दिखेग | Alien planet se Dharti kaisa dikhega
  6. एस्ट्रॉयड क्या है क्या यह हमारे लिए खतरा है | Asteroid kya hai, Dhumketu kya hai
  7. अगर चांद से फायर किया जाए तो क्या होगा | kya hoga agar chand se fire kia jaye
दुनिया में कहीं सारी बातें हैं जो पुनर्जन्म की बातों को सच साबित करते हैं, उदाहरण के तौर पर मुकेश अंबानी रिचेस्ट पर्सन ऑफ इंडिया क्या कभी आपने यह सोचा है कि इनका जन्म एक अमीर फैमिली में ही क्यों हुआ किसी गरीब परिवार में भी तो हो सकता था, और कुछ लोग जो जन्म से ही उनके आंखें नहीं होती पैर नहीं होते जुड़वा या किन्नर होते हैं, हालांकि विज्ञान है इसका जवाब दे सकता है लेकिन आज हम विज्ञान के से परे जो चीज मौजूद है उसके बारे में बात कर रहे हैं .

इसके अलावा महाभारत में यह अन्य कई ग्रंथों में पुनर्जन्म का जिक्र मिलता है, पुराणों में यह कहा गया है कि जब तक बच्चा मां के कोख में रहता है तब तक उसे अपने पिछले जन्म के बारे में सारी बातें याद रहता है, लेकिन जैसे ही वह दुनिया के संपर्क में आता है हम इंसानों के साथ घुलमिल कर अपने पिछले जन्म के बारे में सारी बातें भूल जाता है, क्योंकि यह प्रकृति का नियम है मगर कुछ लोग हैं जो यह दावा करते हैं कि उन्हें अपने पुनर्जन्म पूरी तरह से स्पष्ट रूप से याद है, लेकिन आज के विज्ञान और हाईटेक सोसाइटी में उन पर कोई विश्वास नहीं करता .

पुनर्जन्म क्या है | Punar janam kya hai, Reincarnation kya hai

What is Reincarnation

पुराण के अनुसार इस जीवात्मा को तब तक धरती पर जन्म देना पड़ेगा जब तक उसे मोक्ष को प्राप्त ना हो जाए, और वहां पर एक सवाल है कि जब हम अपने किए की सजा दूसरे जन्म लेते हैं तो फिर हमें नर्क की सजा क्यों घूमना पड़ता है, तो गरुड़ पुराण के अनुसार कुछ जीवात्मा कितने पति होते हैं जिनके लिए हर सजा कम है, इसलिए उन्हें नर्क तो भोगना ही पड़ेगा, मगर धरती पर भी मानसिक शारीरिक कष्ट भी उठानी पड़ेगी .

पुनर्जन्म क्या है | Punar janam kya hai Reincarnation kya hai

और इसके लिए अलग-अलग सज़ाएँ भी उपलब्ध है जैसे बलात्कार जैसे अपराध करने वाले को किन्नर के रूप में पैदा होना पड़ता है, जैसा कर्म वैसा फल इससे कर्मफल सिद्धांत कहा जाता है, जिसके अनुसार अगर अपराधी ज्यादा बढ़ा और संगीन अपराध करता है तो सजा लंबी होगा, पेनफुल होगा उदाहरण के तौर पर 2+2 = 4 होते हैं ठीक इसी तरह कर्मफल सिद्धांत में भी हमारे कर्म मिलाकर आखिर में जो फल निकलता है उसके हिसाब से हमें सजा मिलता है .

पुनर्जन्म क्या है | Punar janam kya hai, Reincarnation kya hai

What is Reincarnation

https://www.scientistsdaily.com/
पाप के अनुसार सजा
अपने वफादार दोस्तों का अपमान करने वाले को दूसरे जन्म में गधा बनकर अपने मालिक की मजदूरी करना पड़ता है, अगर आपका गुनाह माफी के योग्य है तो आपको जल्द ही इस सजा से मुक्ति मिल सकता है, और यह सब कर्मफल सिद्धांत के ऊपर निर्भर करता है .

माता पिता को दुख पहुंचाने वाले इंसानों को कछुए का जन्म लेना पड़ता है, और यह सजा बेहद दर्दनाक है क्योंकि आप सब जानते हैं कि एक कछुए का जीवन काल 80 से लेकर 100 साल तक भी हो सकता है उससे ज्यादा भी हो सकता है, और इन लंबे चौड़े जीवन काल में एक कछुए के रूप में जो कष्ट भोगनी पड़ती है वह बहुत दर्दनाक है, क्योंकि एक इंसान अपने जीवन काल में इतना दर्द से चुका होता है कि वह दोबारा इस धरती पर जन्म लेना नहीं चाहता .

आपने महाभारत और सुना ही होगा जिस थाली में खाना उसी में छेद किया, इस तरह काम करने वाले को बंदर के रूप में धरती पर जन्म लेना पड़ता है, जिस का जीवनकाल 30 साल ही होता है .

जो इंसान किसी मूल्यवान वस्तु को छल से चुरा लेता है या धोखे से भ्रमित करता है उसे क्रीमी कीड़ों के के रूप में जन्म लेना पड़ता है,जरा सोचिए कितना घिनौना जिंदगी होगी .

कौवे की होनी है जो इंसान भगवान का आधार नहीं करता अपने घर आए हुए मेहमानों का अपमान करता है रिश्तेदारों का आधार नहीं करता है वह कव्वे के रूप में जन्म लेता है, और अपने पूरे जीवन में सिर्फ इसे दूसरों के नफरत ही मिलता है, इसके अलावा इंसानों को ना मानने वाले इंसान भी कीड़ों के जिंदगी जीते हैं, कीड़े चाहे कितने भी प्रतिभाशाली हो लेकिन कदर कोई नहीं करता, नफरत तो अलग बात है सब लोग घृणा करते हैं, अपने पिछले जन्म में जैसा किसी के सम्मान को पैरों तले रौंदा था ठीक उसी तरह आपको भी रौंदा जाता है कुचला जाता है .

पुनर्जन्म क्या है | Punar janam kya hai Reincarnation kya hai


पुनर्जन्म क्या है | Punar janam kya hai, Reincarnation kya hai
What is Reincarnation

इसके अलावा गरुड़ पुराण में यह भी लिखा गया है कि दूसरों का अच्छा सोचने वाला बड़ों का आदर करने वाला भगवान को मानने वाला जानवरों की कदर करने वाला इंसान स्वर्ग को प्राप्त होता है, और मोक्ष का दरवाज़ा उसके लिए आसान से खुल जाता है इसके अलावा भगवान श्री कृष्ण ने गीता में कहा है कि कर्म ही इंसान का भविष्य तय करता है, कर्म जैसा करोगे वैसा ही मिलेगा मतलब जैसा बोए-गा वैसा ही काटोगे, मगर आज के समय में इन बातों को कोई ध्यान नहीं रहता और शायद इस योग में आए दिन जुर्म होते रहते हैं शायद आगे भी इसी तरह होते ही रहेंगे, क्योंकि आज के समय यानि कलियुग को इंसानों के लिए एक श्राप माना जाता है .



दोस्तों उम्मीद करता हूं आप कोई आर्टिकल पसंद आया होगा हमसे जुड़े रहने के लिए धन्यवाद आपका दिन शुभ हो .
पुनर्जन्म क्या है | Punarjanam kya hai, Reincarnation kya hai पुनर्जन्म क्या है | Punarjanam kya hai, Reincarnation kya hai Reviewed by Science Fiction on July 24, 2019 Rating: 5

No comments:

Google

Powered by Blogger.