Google ads

सेक्स एजुकेशन क्या है क्या इससे हमारे स्कूलों में पढ़ाने चाहिए || What is sex education should teach in our schools.

सेक्स एजुकेशन क्या है क्या इससे हमारे स्कूलों में पढ़ाने चाहिए || What is sex education should teach in our schools.


सेक्स एजुकेशन एक ऐसा विषय है जिसके बारे में हमेशा से ही यह सवाल उठाया जाता है कि क्या इस तरह का एजुकेशन हमारे समाज में होनी चाहिए ? तो दोस्तों को चलिए आज हमारे इस ब्लॉग में इस विवाद को पूरी तरह से समझते हैं, मगर उससे पहले अगर आपने अभी तक हमें फॉलो नहीं किया है तो ऊपर सब्सक्राइब वाला बटन को दबाकर हमारे ब्लॉग को नोटिफिकेशन ऑन करें .



वह लोग जो इस बात से सहमत हैं कि सेक्स एजुकेशन स्कूल में होनी चाहिए उनका कहना है, कि आज इंटरनेट इतना डेवलप हो चुका है की हर चीज का जवाब मिल जाता है, और इसीलिए यंगस्टर योन संबंध से जुड़ी हर चीज को इंटरनेट पर जानने लगते हैं, लेकिन वह जानकारी कहीं ना कहीं अधूरी होती है, ऐसे में कुछ वेबसाइट ऐसे हैं जो अश्लील फिल्म को लोगों के सामने प्रस्तुत करते हैं, जो छात्रों के लिए गलत है .



जहां कुछ लोग इससे सहमत हैं वहीं कुछ लोग इसका विरोध भी करते हैं, इन लोगों का कहना यह है कि आज से कई साल पहले सेक्स एजुकेशन नाम का शब्द दुनिया में इतना ज्यादा प्रसिद्ध नहीं था, समय के साथ साथ और बढ़ती उम्र के साथ हर इंसान को इस बारे में तजुर्बा हो जाती है, इसके लिए हमें यूं सरे आम सेक्स एजुकेशन को स्कूल में या कॉलेज में नहीं दिखाना चाहिए .



दोस्तों दोनों की बात सही है और दोनों ही अपने अपने जगह पर सही हैं, लेकिन ग़ौरतलब करें तो यह एक बहस का मुद्दा इसलिए बना है क्योंकि कुछ लोगों को इन बातों पर गलत फैमिली हो गई है, जिसके वजह से लोग इस विषय को सीधा यौन संबंध से जोड़कर देखते हैं, ऐसे में सवाल ये उठता है कि सेक्स एजुकेशन वाकई में क्या है और किस तरह से यह मामला सुलझ सकता है ?



आज के समय में हमारे बीच बदलाव और पर्यावरण का परिवर्तन खाना-पीना में बदलाव के कारण युवाओं में शारीरिक और हारमोन बदलाव हो रहा है, और इसकी वजह से शारीरिक संबंध कि तरफ युवाओं का ध्यान आकर्षित हो रहा है, और फिर वह लोग इस आग्रह को शांत करने के लिए इंटरनेट किताब या वेबसाइट का सहारा लेते हैं, क्योंकि उन्हें पता है कि स्कूलों में या परिवार के सामने इस बारे में बात करना शर्मनाक है, इसलिए वह इंटरनेट या अन्य सुविधाओं का सहारा लेते हैं .



दोस्तों आपको यह जान लेना चाहिए कि सेक्स एजुकेशन सिर्फ योन संबंध तक ही सीमित नहीं है, बल्कि यह एक ऐसी ज़रिया है जिससे लोगों को यह पता चलेगा कि शारीरिक संबंध के समय गर्भ धारण किन हालातों में हो सकता है, और इस से यौन संक्रमण जैसे रोग काफी हद तक कम हो सकता है .

जैसा कि हमें पता है कि सदियों से मनुष्य का अंदर सेक्स एक आग्रह का विषय बना रहा है, और यह आग्रह आजकल युवाओं में बहुत कम उम्र से ही देखने को मिलता है, आज की आधुनिक पीढ़ी इस बारे में बाल उम्र से ही दिलचस्पी लेने लगता है इसलिए सेक्स एजुकेशन जरूरी है .





इस तरह की जानकारी के बाद बच्चे खुद पर नियंत्रण रख पाएंगे और किसी अन्य के बहकावे में नहीं आएँगे, हालांकि बहकावे में आकर आजकल दुनिया में क्राइम काफी हद तक बढ़ गई है, और मुझे लगता है इस तरह का एजुकेशन से समाज में क्राइम काफी हद तक कम हो जाएगा, उम्मीद है आपको यह आर्टिकल पसंद आया होगा हमसे जुड़े रहने के लिए धन्यवाद आपका दिन शुभ हो .
सेक्स एजुकेशन क्या है क्या इससे हमारे स्कूलों में पढ़ाने चाहिए || What is sex education should teach in our schools. सेक्स एजुकेशन क्या है क्या इससे हमारे स्कूलों में पढ़ाने चाहिए || What is sex education should teach in our schools. Reviewed by Science Fiction on March 12, 2019 Rating: 5

No comments:

Google

Powered by Blogger.