Google ads

कैसे रहेगा इंसान मंगल ग्रह पर जानिए अद्भुत तथ्य | City in mars features

कैसे रहेगा इंसान मंगल ग्रह पर जानिए अद्भुत तथ्य | City in mars features

कैसे रहेगा इंसान मंगल ग्रह पर जानिए अद्भुत तथ्य | City in mars features
कैसे रहेगा इंसान मंगल ग्रह पर जानिए अद्भुत तथ्य | City in mars features

परिचय:

नमस्कार दोस्तों, दोस्तों दुनिया की हर इंसान कुछ ना कुछ नया पाने की कोशिश करता है, समय के साथ नए सवाल सामने भी आते हैं, एक सवाल यह भी है मार्स यानी मंगल जहां पर भविष्य में हम इंसानों की बस्ती बसाने की कोशिश कई सालों से चलता आ रहा है, और मार्स के बारे में जानने की इच्छा भी कई दशकों से चली आ रही है, चाहे वह 1610 दशक की साहित्य में या 1900 के दशक में थॉमस एडीसन के बनाए गए फिल्म ए ट्रिप टू द मार्स में क्यों ना हो, इतना ही नहीं भविष्य में यानी 2030 में तैयारियाँ कर रही स्पेस एक्स भी, अब जब इतने सालों से हम इंसान इस बारे में रिसर्च कर रहे हैं तो काफी सारे नतीजे भी सामने आए होंगे, और कुछ खास बात भी होगी जो इंसान मंगल ग्रह को लेकर इतना रिसर्च कर रहा है, तो चलिए दोस्तों बिना समय गवाएं जानते हैं, मगर उससे पहले अगर आपने अभी तक हमें फॉलो नहीं किया है तो नीचे दिए गए बटन पर क्लिक करके हमें फॉलो करें |

कैसे रहेगा इंसान मंगल ग्रह पर जानिए अद्भुत तथ्य | City in mars features

इंसानों द्वारा मंगल पर भेजा गया पहला रोबोट था मार्स-2 और मार्स-3, जिसे 1971 में भेजा गया था हालांकि यह रोबोट इंसानों द्वारा बनाई गई पहली वस्तु रही हो जिन्होंने मंगल के सतह को छुआ था, मगर दुर्भाग्यवश मंगल पर लैंड करते ही यह रोबोट दुर्घटनाग्रस्त हो गए, उसके बाद 1976 में नासा ने एक लैंडर भेजा जिसका नाम विकिंग जॉन था, और यह पहला रोबोट था जिसने हमें मंगल ग्रह की पहली तस्वीर भेजें, उसके 21 साल बाद इंसानों ने पहला रोवर भेजा जिसका नाम सोजनार था, सोजनार एक रोवर था इसलिए वह मंगल के जमीन पर चलने में कामयाब हो गया |

Read this also


इसके बाद नासा ने स्पिरिट और अपॉर्चुनिटी नाम की दो रोबोट मंगल पर भेजें, हालांकि इन रॉबर्ट्स का मिशन सिर्फ 90 दिनों तक था, लेकिन मंगल की हवा तेज होने की वजह से इनकी सोलर पैनल साफ होते रहे और यह रोबोट 6 साल तक चले, इन 6 सालों में यह रोबोट केवल 41 किलोमीटर ही चल पाए थे, कहते हैं एक रोबोट जो काम 6 महीने में करता है वह काम एक इंसान 2 घंटे में कर सकता है, और यही एक वजह है जो इंसानों को रोबोट से अलग बनाता है |

कैसे रहेगा इंसान मंगल ग्रह पर जानिए अद्भुत तथ्य | City in mars features
कैसे रहेगा इंसान मंगल ग्रह पर जानिए अद्भुत तथ्य | City in mars features

लेकिन इस बात को ध्यान में रखते हुए हम इन मशीनों को नज़रअंदाज़ नहीं कर सकते, क्योंकि अगर यह मशीन ना होते तो हमें बाहर की दुनिया की जानकारी कभी नहीं मिल पाती, इन रोबोट का कमी यह है कि हमारे पृथ्वी से किसी भी निर्देश इन तक पहुंचने के लिए 4 से लेकर 24 मिनट तक समय लगता है, और यही निर्देश इन मशीनों से हमारे धरती में आने के लिए लगभग उतना ही समय लगता है, और यह काम किसी इंसान के बिना असंभव है, क्योंकि हर एक मशीन या रोबोट इंसान के निर्देश पर ही चलता है |

कैसे रहेगा इंसान मंगल ग्रह पर जानिए अद्भुत तथ्य | City in mars features

इन सबके बीच सवाल यह उठता है कि हम मंगल पर ही क्यों जाना चाहते हैं, तो इसका जवाब है देखा जाए तो मंगल की तुलना में विनश पृथ्वी के काफी करीब है, पृथ्वी से विनश की सबसे कम दूरी 26 मिलियन मिल है, और सबसे ज्यादा दूरी 160 मिलियन मिल है, इसके अलावा विनस का मास पृथ्वी का 80% है, और इसका गुरुत्वाकर्षण धरती का 90% है, वहीं अगर मंगल को देखा जाए तो यह पृथ्वी से 10% छोटा भी है, और गुरुत्वाकर्षण पृथ्वी का 38% है, मगर वीनस की सबसे बड़ी कमी है उसका टेंपरेचर जो 462 डिग्री सेल्सियस है, हमारे वैज्ञानिकों ने अब तक जितना भी रोबोट विनस पर भेजा है वह 2 घंटे से ज्यादा नहीं टिक पाए हैं |

कैसे रहेगा इंसान मंगल ग्रह पर जानिए अद्भुत तथ्य | City in mars features
कैसे रहेगा इंसान मंगल ग्रह पर जानिए अद्भुत तथ्य | City in mars features

हालांकि नासा ने विनस पर रहने के लिए एक योजना बननाया है जिसका नाम हांवर्क है, और इस योजना के तहत विनस की जमीन से 50 किलोमीटर ऊपर वैज्ञानिक एक शहर बनाएंगे जो हवा में तैरता हुआ नजर आएगा, लेकिन अब यह सिर्फ एक योजना ही है इसे पूरा करने में काफी ज्यादा लागत की जरूरत है, हमारे सौर-मंडल के बाकी अन्य ग्रह किसी ना किसी वजह से इंसानों के रहने के लायक नहीं है, किसी में गर्मी ज्यादा है तो किसी में ठंडी ज्यादा है, और किसी में जमीन ही नहीं है और कई सारे प्लेनेट हैं जो हमसे काफी ज्यादा दूर पर हैं, यही कारण है कि वैज्ञानिक मंगल को सबसे ऊपर रखते हैं |

अब अगर हम इंसान मंगल पर चले भी जाएं तो वहां रहेंगे कैसे, क्योंकि मंगल पर गुरुत्वाकर्षण बहुत कम है जिसके वजह से इंसानों की हड्डी बहुत कम समय में नष्ट होने लगता है, वैज्ञानिकों का कहना है कि हम मंगल ग्रह पर तेरा-फॉर्मिंग कर सकते हैं, यानी मंगल ग्रह को पृथ्वी जैसा बना सकते हैं और यह आज के जमाने में मुमकिन है, लेकिन ऐसा करने में अभी काफी समय लगेगा, वैसे आप इस बारे में क्या सोचते हैं हमें कमेंट करके जरूर बताएं, उम्मीद है आपको यह आर्टिकल पसंद आया होगा हम से जुड़े रहने के लिए धन्यवाद आपका दिन शुभ हो |
कैसे रहेगा इंसान मंगल ग्रह पर जानिए अद्भुत तथ्य | City in mars features कैसे रहेगा इंसान मंगल ग्रह पर जानिए अद्भुत तथ्य | City in mars features Reviewed by Science Fiction on February 12, 2019 Rating: 5

No comments:

Google

Powered by Blogger.